अदालत में न्याय कि देवी की जगह क़ुरान रखने के लेकर इस देश में हो रहा है विरध प्रदर्शन: जानिये इसकी वजह क्या है...




इस देश के हज़ारों मुसलमानो ने देश के सर्वोच्च अदालत में न्याय की देवी की मूर्ति को हटाने और उसकी जगह कुरान रखने की मांग करते हुए प्रदर्शन किया। धर्मनिरपेक्ष बांग्लादेश में प्रदर्शनकारियों ने मूर्ति को तोड़ कर फेंक देने की मांग की।

मुस्लिम बहुल बांग्लादेश में लेडी 'जस्टिस' या इंसाफ की देवी की मूर्ति को हटाने का मुद्दा जोर पकड़ता जा रहा है। मुसलमानों ने पिछले कुछ समय से आंखों पर पट्टी बंधी और हाथों में तराजू लिए हुई प्रतिमा को हटाने की मांग कर रहे हैं। उनके अनुसार यह ग्रीक देवी की मूर्ति है जो बांग्लादेश के लिए उपयुक्त नहीं है।

राजधानी ढाका में बैतुल मुकर्रम मस्जिद में शुक्रवार की नमाज के बाद इस्लामी आंदोलन बांग्लादेशी (आईएबी) के समर्थक हजारों की संख्या में हाथों में तख्तियां लेकर इकट्ठा हो गए। वे मूर्ति को तोड़ने और उसकी जगह कुरान को रखने की मांग कर रहे थे।
आईएबी के प्रवक्ता अतीक-उर-रहमान ने बताया कि मूर्ति के साथ ही साथ उसके हटाने में टालमटोल करने की वजह से देश के चीफ जस्टिस को हटाने की मांग है। पिछले हफ्ते प्रधानमंत्री शेख हसीना ने भी मूर्ति को हटाने की बात कर चुकी हैं, जिससे कट्टरपंथियों की इस मांग को बल मिला है। विरोधियों ने हसीना के इस कदम को आम चुनाव से पहले समर्थन हासिल करने की कोशिश करार दिया है।

No comments

Need a News Portal, with all feature... Whatsapp me @ +91-9990089080
Powered by Blogger.