जहरीली गैस की चपेट में आई 300 से अधिक छात्राएं : अस्पताल में भर्ती




नई दिल्ली। देश की राजधानी दिल्ली के तुगलकाबाद क्षेत्र में एक स्कूल के निकट रासायनिक रिसाव से विषैला धुआं निकलने के बाद 300 से अधिक छात्राओं को अस्पतालों में भर्ती कराया गया है। रानी झांसी कन्या सर्वोदय स्कूल की छात्राओं को सांस लेने में दिक्कत और आंखों में जलन की शिकायत के बाद निकटतम अस्पताल में ले जाया गया। पीडि़त छात्राओं की संख्‍या में लगातार इजाफा हो रहा है। एक छात्रा की हालात काफी नाजुक है। हालांकि दिल्‍ली पुलिस का दावा है हालात काबू में है। पुलिस का कहना है कि कंपनी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है और आगे की कार्रवाई चल रही है।

बेहोश हुए सभी बच्चियों को अस्‍पताल में भर्ती कराया गया है। एहतियात के तौर पर प्रशासन ने पूरे स्‍कूल को खाली करा लिया है। प्रशासन का दावा है कि 100 से अधिक बच्चियों को स्‍कूल से निकाला गया है। इनका हाल जानने के लिए उपराज्‍यपाल अनिल बैजल अस्‍पताल पहुंचे। उन्‍होंने छात्राओं के परिजनों से बात की और हालात बेहतर होने का भरोसा दिलाया। 
दरअसल जब यह घटना हुई तब कक्षाएं चल रही थीं और बच्‍चों ने सांस लेने में दिक्‍कत की बात कही। स्‍कूल की वाइस प्रिंसिपल ने कहा कि गैस लीक होने की वजह से कुछ बच्‍चों ने आंखों में जलन और सांस लेने में तकलीफ की शिकायत की। स्‍कूल के पास स्थित कंटेनर डिपो से गैस के लीकेज होने की आशंका व्‍यक्‍त की जा रही है। मौके पर पुलिस और बचाव दल उपस्थित हैं। राहत कार्य पूरे जोर-शोर से चल रहे हैं।
वहीं दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया अस्पताल में मरीजों से मिलने पहुंचे और उनका हालचाल जाना। केंद्रीय मंत्री जेपी नड्डा ने केंद्र सरकार के अस्पतालों को पीड़ितों की मदद करने के लिए तैयार रहने का निर्देश दिया है। एम्स के डॉक्टरों के एक दल को किसी भी आपातकालीन स्थिति से निपटने के लिए तैयार रखा गया है। बत्रा अस्पताल के एक वरिष्ठ डॉक्टर ने बताया है कि पीड़ितों की हालत स्थिर है। यहां 10-14 साल उम्र के 55 बच्चों को भर्ती कराया गया है। 
इस मामले में दिल्‍ली सरकार के उपमुख्‍यमंत्री मनीष सीसोदिया ने कहा कि गैस रिसाव की वजह से 320 छात्राओं ने आंखों में जलन की शिकायत की थी। उन्हें पास के 4 बड़े अस्पतालों में भर्ती करा दिया गया है। मेरी छात्राओं और डॉक्टर्स से बात हुई है, सबकी हालात सामान्य है। कंटेनर डिपो से गैस लीक होने के मामले की जांच के लिए डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट को कहा है।

पुलिस के मुताबिक, सुबह करीब 7 बजकर 35 मिनट पर तुगलकाबाद डिपो के एक हिस्से में कुछ रसायन रिसाव होने से संबंधित सूचना मिली थी। यह डिपो इन स्कूलों के निकट स्थित है। कंटेनर में रखे गए इस रसायन को चीन से आयात किया गया था और इसे हरियाणा के सोनीपत ले जाना था। पुलिस के अनुसार 310 छात्राओं का अब तक इलाज हो चुका है। मजीदिया अस्पताल में 107 छात्राएं और बत्रा अस्पताल में 62 छात्राएं भर्ती थी। 

No comments

Need a News Portal, with all feature... Whatsapp me @ +91-9990089080
Powered by Blogger.