जबर सिंह और भुप सिंह को मुस्लिम समझ कर पीटते रह गौ रक्षक : दोनो ज़ख़्मी को हॉस्पिटल पहुंचाया गया




खुद को गौरक्षक बताने वालों ने अब ग्रेटर नोएडा में अपना तांडव किया है. दो लोगों को बुरी तरह पीटा गया है. और इस बार जिन्हें मारा गया है, उनमें 35 साल के जबर सिंह और 45 साल के भूप सिंह हैं. ये गुंडागर्दी गुरुवार को दोपहर बाद जेवर इलाके में हुई. भूप सिंह और जबर सिंह एक गाय और उसका बछड़ा लेकर पास के गांव से आ रहे थे. गौ गुंडों ने उन्हें मारने से तभी छोड़ा जब इस बात का यकीन हो गया कि वो गौ तस्कर नहीं हैं.
जबर सिंह और भूप सिंह जेवर के सिरसा मांझीपुर के रहने वाले हैं. दोनों मेहंदीपुर गांव से गाय और बछड़ा खरीदकर ला रहे थे. वह लोग पैदल ही घर की ओर आ रहे थे. धूप और थकान की वजह से रास्ते में दोनों आराम करने के लिए एक पेड़ के नीचे बैठ गए.
पुलिस के मुताबिक, तभी कथित गौरक्षकों का एक दल वहां पहुंच गया. और उन दोनों पर आठ-नौ लोगों ने हमला कर दिया. भूप सिंह ने बताया कि वो बैठे हुए थे, तभी 8-9 लोग आए और बिना कुछ पूछे मारने पीटने लगे. वो खुद को गौरक्षक बता रहे थे. दोनों उन लोगों को कहते रहे कि वो गौ तस्कर नहीं हैं बल्कि डेयरी के लिए गाय खरीदकर ला रहे हैं. लेकिन कोई भी उन दोनों की बात सुनने को राज़ी नहीं था. जब पीट रहे लोगों को इस बात का यकीन हो गया कि वे गौ तस्कर नहीं हैं, तब जाकर दोनों को छोड़ा गया.
इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक भूप सिंह की फैमिली के एक शख्स ने बताया,
‘हम गरीब लोग हैं, हमें डेयरी के काम के लिए गाय चाहिए होती हैं, इसी से हमारा गुजारा चलता है. दोनों को इतना मारा गया है कि पता नहीं कब वो काम करने के काबिल हो सकेंगे.’
ज़ख़्मी हुए दोनों लोगों को पहले पास के प्राइवेट हॉस्पिटल ले जाया गया, जहां से उनको नोएडा डिस्ट्रिक्ट हॉस्पिटल भेज दिया गया. दोनों के कुछ अंदरूनी चोट और फेक्चर हैं.
टाइम्स ऑफ़ इंडिया के मुताबिक स्थानीय मुअज्ज़म खान ने बताया,
‘वे दोनों मेहंदीपुर से गाय और बछड़ा लेकर आ रहे थे. पैदल चलने की वजह से थककर एक पेड़ के नीचे आराम कर रहे थे. तभी कुछ बीजेपी कार्यकर्ता और गौ रक्षक दल के लोगों ने उन दोनों को देखा, उन्हें लगा वो मुसलमान हैं. उन लोगों ने अपने और साथी बुला लिए और हमला कर दिया.’
जेवर के एसएचओ अजय कुमार शर्मा का कहना है कि नौ लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है, जिसमें से पांच अज्ञात और चार जानने वाले हैं. जिन लोगों की पहचान हुई है, उनमें महेश, आशीष, ओमपाल और गौरव शामिल हैं, ये सभी वहीं आसपास इलाकों के रहने वाले हैं. सभी की तलाश की जा रही है.
इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक विश्व हिंदू परिषद की गौरक्षा युनिट ने ऐसी किसी घटना में खुद के शामिल होने से साफ़ इंकार किया है.

No comments

Need a News Portal, with all feature... Whatsapp me @ +91-9990089080
Powered by Blogger.