भाजपा के केंद्र में आते ही Dravida Nadu की आवाज़ फिर से ज़ोर पकड रही है




एक ऐसी मांग जिसे 1960 में DMK नेताओं ने जवाहर लाल नेहरू से मुलाक़ात के बाद अपने पार्टी प्रोपोगंडा से बाहर निकाल दिया था। आज फिर से ये मांग जोर पकडने लगी 
आप कश्मीर घाटी बचाइये, दक्षिण भारत के हिन्दू 5 राज्यों के साथ भारत से आज़ाद हो जाना चाहते हैं, भारत के अरुणाचल प्रदेश से वैसे भी आपको कोई मतलब नही है, चाहे चीन 35,000 वर्ग किलोमीटर की जगह पूरा अरुणाचल प्रदेश ही क्यों न अपने साथ ले जाये।
बीजेपी जिस तेजी से मुद्दों पर अपनी उपलब्धियां गिनवा रही है, दक्षिण भारतीयों का Dravida Nadu के समर्थन में बिरोध करना भी बीजेपी की उपलब्धियों में से एक गिना जायेगा।
ये सब सिर्फ इस लिये, क्योंकि दक्षिण भारत के लोग, उत्तर भारत की परंपरा को खुद पर ज़बरदस्ती थोपे जाने का अहसास कर रहे हैं। बीफ़ खाने की मनाही हिंदू धर्म मे कही नही है, अगर होती तो दक्षिण भारत के ब्राह्मण बीफ कभी नही खाते, ये उत्तर-मध्य भारत मे वक़्त और ज़रूरत के हिसाब से पनपी एक परंपरा है, जिसे बीजेपी जैसी देश-तोड़ू पार्टी सिर्फ अपने वोट बैंक के लिये इस्तेमाल कर रही है।
सोंच कर देखिये, दक्षिण भारतीय ट्वीटर पर DravidaNadu ट्रेंड करा रहे हैं, 
आज बीजेपी की वजह से Dravida Nadu की आवाज़ फिर से उठ रही है, अगर उनकी आवाज़ तेज़ हो गई तो भारत सरकार क्या कर लेगी? क्या आज की बीजेपी सरकार दक्षिण भारत को भी काश्मीर बना देगी, और वहाँ की जनता पे कश्मीरियों पर हो रहे ज़ुल्म की तरह ज़ुल्म करेगी?
शायद ही आपको पता हो, भारत के 24 राज्य मिल कर जितना टैक्स देते हैं ये 5 राज्य जो अलग होने की मांग कर रहे हैं, अकेले उतना टैक्स भारत सरकार को देते हैं।
यक़ीन मानिये, बीजेपी हमारे भारत को बर्बाद कर देगी, ये बेवक़ूफ़ लोग हमारी एकता और अखंडता को कुचल कर देश को हिन्दू राष्ट्र बना देना चाहते हैं, जो असल मे मुमकिन नही है। लेकिन इनकी कोशिश हम सभी मे से कुछ लोगों की जान ज़रूर लेगी, और ले रही है,
बीजेपी ही एक अकेली ऐसी पार्टी है, जो धर्म के नाम पर उत्तर भारत के ब्राह्मणों को दक्षिण भारत के ब्राह्मणों से लड़ा सकती है, यक़ीन ना हो तो बस देखते जाइये।।
✍️ - जौहर सिद्दीकी

No comments

Need a News Portal, with all feature... Whatsapp me @ +91-9990089080
Powered by Blogger.