CBI छापे के व‍िरोध में रविश ने PM मोदी से कहा- म‍िटाने की इतनी ही खुशी है तो कभी आमने-सामने हो जाइये



केंद्रीय जांच एजेंसी CBI ने मीडिया मुगल और एनडीटीवी के को-फाउंडर प्रणव रॉय के राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली स्थित आवास पर छापेमारी की। सीबीआई ने प्रणव रॉय, उनकी पत्नी राधिका रॉय के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। सीबीआई की इस कार्रवाई का एनडीटीवी के पत्रकार रवीश कुमार ने विरोध किया है। रवीश ने फेसबुक पर लिखे अपने पोस्ट में कहा, “आप डराइये, धमकाइये, आयकर विभाग से लेकर सबको लगा दीजिये। सोशल मीडिया और चंपुओं को लगाकर बदनामी चालू कर दीजिये लेकिन इसी वक्त में जब सब ‘गोदी मीडिया’ बने हुए हैं, एक ऐसा भी है जो गोद में नहीं खेल रहा है। एनडीटीवी इतनी आसानी से नहीं बना है, ये वो भी जानते हैं। मिटाने की इतनी ही खुशी हैं तो हुजूर किसी दिन कुर्सी पर आमने-सामने हो जाइयेगा। हम होंगे, आप होंगे और कैमरा लाइव होगा।”
प्रणव, उनकी पत्नी के अलावा एक प्राइवेट और अन्य पर केस ICICI बैंक को कथित तौर पर 48 करोड़ रुपए का नुकसान पहुंचाने के आरोप में दर्ज किया गया है। सीबीआई ने कहा कि दिल्ली और देहरादून में चार जगहों पर छापेमारी की गई है। देहरादून में प्रणव रॉय के घर की देखरेख करने वाले कर्मचारियों ने बताया, “सीबीआई की टीम के करीब 6-7 लोग सुबह यहां आए और पूरे घर की तलाशी ली।” सीबीआई की रेड और केस दर्ज होने के बाद एनडीटीवी की ओर से बयान जारी कहा गया है कि सीबीआई झूठे आरोपों के तहत एनडीटीवी के प्रमोटरों का उत्पीड़न कर रही है। जबकि सरकार ने इन आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि इसे सामान्य कानूनी कार्रवाई बताया।
एनडीटीवी के प्रणव रॉय के घर हुई इस कार्रवाई की दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने भी निंदा की है। केजरीवाल ने ट्वीट करके कहा- “हम डॉ प्रणव रॉय और एनडीटीवी समूह पर छापों की घोर निंदा करते हैं, ये आजाद और सत्ता के खिलाफ उठी आवाजों को चुप कराने की एक कोशिश है।” बता दें कि सुब्रमणयम स्वामी ने पिछले साल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर एनडीटीवी पर मनी लॉन्डरिंग के आरोप लगाए थे। उन्होंने पीएम मोदी से अपील की थी कि भ्रष्टाचार रोकथाम अधिनियम के तहत सीबीआई को एनडीटीवी के खिलाफ केस दर्ज करने के निर्देश दिए जाएं।



No comments

Need a News Portal, with all feature... Whatsapp me @ +91-9990089080
Powered by Blogger.