आंग सांग सूकी और बौद्ध आतंकी विराथो के खिलाफ अंतर्राष्ट्रीय कोर्ट में मुकदमा दर्ज




म्यांमार में जारी रोहांगिया मुसलमानों के जनसंहार को लेकर पाकिस्तानी वकील बैरिस्टर इकबाल जाफरी ने म्यांमार की सत्तारूढ़ पार्टी सुप्रीमो आंगसांग सूची की और इस हिंसा के मास्टरमाईंड कट्टरपंथी नेता आशन विराथो के खिलाफ अंतर्राष्ट्रीय कोर्ट में आपराधिक मुकदमा दायर कराया है।
मेहर समाचार एजेंसी ने की खबर के मुताबिक पाकिस्तानी वकील बैरिस्टर इकबाल जाफरी ने रोहांगिया मुसलमानों की हत्या और हिंसा के खिलाफ आवाज उठाते हुए म्यांमार की सत्तारूढ़ पार्टी सुप्रीमो आंग सान सूची की और कट्टरपंथी बौद्ध नेता आशन विराथो के खिलाफ नीदरलैंड में स्थापित विश्व आपराधिक न्यायालय में याचिका दायर की है।
बैरिस्टर इकबाल जाफरी ने याचिका में कहा है कि आंग सांग सूची की और आशन विराथो मुसलमानों के नरसंहार में शामिल हैं और हिंसक घटनाओं के कारण लाखों रोहांगिया मुसलमान पलायन करने को मजबूर हैं और इस दौरान सैकड़ों मुसलमानों या तो हत्या हो चुकी है या नदियों वे डूब गए और माइग्रेट किए गए हैं।
गौरतलब है कि कट्टरपंथी नेता आशन विराथो म्यांमार में स्थानीय बौद्ध धर्म के अनुयायों को अपने भड़काऊ भाषणों के माध्यम से मुसलमानों के खिलाफ उकसाता है  आशन विराथो बौद्ध धार्मिक आतंकवाद का चेहरा गया है। इसके अलावा म्यांमार में लोकतंत्र के लिए लंबा संघर्ष में नोबेल पुरस्कार पाने वाली आंग सांग सूकी भी मुसलमानों के नरसंहार से न सिर्फ इनकार करती हैं बल्कि उसे झूठा और निराधार प्रचार भी करार देती हैं।

No comments

Need a News Portal, with all feature... Whatsapp me @ +91-9990089080
Powered by Blogger.