ओवैसी के खिलाफ चुनाव लड़ने पर अज़हरुद्दीन ने तोड़ी चुप्पी- जानिये क्या कहा पुर्व कप्तान ने




हैदराबाद लोकसभा सीट पर पूर्व क्रिकेटर व कप्तान  मोहम्मद अजहरुद्दीन के 2019 लोकसभा चुनाव असदउद्दीन ओवैसी के सामने चुनाव लड़ने पर अपनी चुप्पी तोड़ते हुए कहा है कि चुनावों में उनकी जो भूमिका होगी वो पार्टी आलाकमान से वार्ता करने के बाद निर्णय लेंगे.अज़हरुद्दीन ने कहा है कि ”मैं देखता हु पार्टी आलाकमान का क्या मत है.”
बता दे कि हैदराबाद लोकसभा सीट पर पिछले 33 वर्षों से ओवैसी परिवार का क़ब्ज़ा है 1984 से 2004 तक असदउद्दीन ओवैसी के पिता सलाहुद्दीन ओवैसी इस सीट पर साँसद रहे हैं उनके बाद 2004 से अब तक बैरिस्टर असदउद्दीन ओवैसी साँसद हैं।हैदराबाद लोकसभा मुस्लिम बहुल्य सीट है जिसका बड़ा हिस्सा हैदराबाद शहर का पुराना इलाक़ा शामिल है।
हैदराबाद मेयर कॉर्पोरेशन चुनाव के समय ओवैसी के कार्यकर्ताओं और कोंग्रेसी नेताओं के बीच हाथापाई हुई थी जिस वजह से कोंग्रेस ओवैसी को चुनाव हराने के लिये हर एक तरह से हथकण्डा अपनाना चाहती है।तिलंगाना कोंग्रेस कमेटी ने अजहरुद्दीन को सम्मानित करते हुए एक कायर्क्रम में हैदराबाद लोकसभा सीट से अजरुद्दीन को लड़ने का न्यौता दिया था.
कार्यक्रम में एन.उत्तम कुमार रेड्डी ने कहा कि अजरुद्दीन को हैदराबाद लोकसभा सीट से चुनाव लड़ने की गुज़ारिश की थी.उन्होंने कहा था कि अगर अजरुद्दीन यहाँ समय देते है तो कांग्रेस तेलंगाना की सत्ता में वापस आ जाएगी.

1 comment:

  1. You will loose if you attempt this adventure.Saadbhai is the clear winner from this area.

    ReplyDelete

Powered by Blogger.