हिंदू लडकी का इस्लाम क़बुल कर मुस्लिम लड़के से शादी करना लव जिहाद नहीं: केरल सरकार




केरल सरकार ने सुप्रीम कोर्ट को बताया है कि हिंदू महिला का इस्लाम अपनाकर मुस्लिम लड़के से शादी करना लव जिहाद नहीं है । पी विजयन सरकार ने बताया की पुलिस ने हिंदू महिला के इस्लाम धर्म कबूल करने के बाद मुस्लिम  लड़के से  शादी के मामले की ‘‘गहन जांच’’ की गई है ।  जांच में ऐसा कुछ नहीं मिला की जिससे मामले की छानबीन NIA को दी जा सके। कोर्ट ने NIA को निर्देश दिया था कि वह इस बात की जांच करे कि इस मामले में कथित ‘लव जिहाद’ का कोई व्यापक पहलू तो शामिल नहीं है। इस मामले में हिंदू महिला हादिया ने अपना धर्म परिवर्तन कर इस्लाम स्वीकार कर लिया था और बाद में केरल के एक मुस्लिम युवक शफीन  से शादी कर ली थी ।
केरल सरकार ने कहा हमने जांच एनआईए को सौंपने के अदालत के आदेश का पालन किया, लेकिन पुलिस को अब तक किसी ऐसे अपराध का पता नहीं चला है जिससे वैधानिक तौर पर मामले को NIA के हवाले किया जा सके। पिछले दिसंबर में महिला से शादी करने वाले और उच्च न्यायालय की ओर से अपनी शादी रद्द करने के फैसले को चुनौती देने वाले शफीन ने हाल में  याचिका दाखिल कर उस आदेश को वापस लेने की मांग की जिसमें मामले की जांच NIA को सौंपने की बात कही गई थी। शफीन ने दावा किया था कि महिला ने अपनी शादी से कई महीने पहले धर्मांतरण किया था और शादी एक वैवाहिक वेबसाइट के जरिए तय हुई थी।


1 comment:

Powered by Blogger.