पाकिस्तान का एक शहर ऐसा भी, जहां हिन्दुओं की आस्था के सम्मान कर मुसलमान नहीं खाते बीफ




नई दिल्ली – बीफ को लेकर भारत में पिछले तीन साल से बवाल मचा हुआ है। जहां बीफ खाने, ले जाने के शक मात्र पर ही कई 28 लोगों की हत्या की जा चुकी है। यह बवाल का ही कारण है कि फिल्म अभिनेत्री काजोल मुखर्जी का एक वीडियो वायरल हुआ जिसमें वे बीफ खा रहीं थीं, लेकिन गोआतंकियों के खौफ के कारण उन्हें सफाई देनी पड़ी कि वे बीफ नहीं खा रही थीं।
इस सबके बीच मुस्लिम बहुल पाकिस्तान के एक शहर में मुसलमान बीफ नहीं खाते, एसा नहीं है कि इस शहर में बीफ खाने पर पाबंदी की गई है, बल्कि एसा वे इसलिये करते हैं ताकि वे हिन्दू समुदाय की आस्था का सम्मान रख सकें। पाकिस्तान इस शहर का नाम मीठी है सिंध प्रांत के जिला थारपारकर के अंतर्गत आता है।
पाकिस्तान से इस शहर मे सदियों से हिन्दू और मुसलमान एक साथ मिल जुलकर रह रहे हैं, दूसरे शहरों में होने वाले सांप्रदायिक तनाव के बाद भी इस शहर में हमेशा शान्ति ही रही है जो इस शहर के सोहार्द को डिगा नही पाई। यह शहर पाकिस्तान के उन चुनिंदा शहरों में से एक है जहां हिन्दुओं  की आबादी मुसलमानों की आबादी से अधिक है।
इस शहर में सत्तर प्रतिशत आबादी हिन्दू समुदाय की है। इस शहर में सोहार्दी की एक नहीं बल्कि कई मिसालें देखने को मिलती हैं। इसी शहर की रहने वालीं पूनम बताती हैं कि इस शहर में सभी लोग मिलजुल कर सोहार्द के साथ रहते हैं यदि कभी कोई तनाव का मामला सामने आता भी है तो दोनों समुदाय के बुजुर्ग आपस में बैठकर उसे हल कर लेते हैं।
यह खबर बीबीसी के इनपुट से ली गई है पूरी खबर आप यहां क्लिक करके पढ़ सकते हैं 

No comments

Need a News Portal, with all feature... Whatsapp me @ +91-9990089080
Powered by Blogger.