गोआतंकियों के शिकार हुए युवक ने कहा- ‘गौमांस निकला तो मुझे फांसी दे देना, नहीं तो मुझे इंसाफ चाहिए’




नई दिल्ली- मोदी सरकार आने के बाद गौरक्षा के नाम पर समुदाय विशेष पर हमले हो रहे हैं। ताजा मामला फरीदाबाद का है जहां कथित गौरक्षाकों ने एक ऑटो रिक्शा में गौमांस होने का आरोप लगाकर ऑटो चालक और उसके साथी को बेरहमी पीटा। इन कथित गोरक्षकों ने ऑटो ड्राईवर को भारत माता और हनुमान जी की जय बोलने को कहा।
आरोप है कि जब ऑटो ड्राईवर आजाद ने जब ऐसा नहीं किया तो आरोपियों ने उसे इतना पीटा की वह लहूलुहान हो गया। गौरतलब है  कि फरीदाबाद के बाजड़ी गांव में कथित गौरक्षकों ने ऑटो चालक की बीते रोज़ बेरहमी से पिटाई की थी। पीड़ित ने बताया कि उसके एक दोस्त की गोश्त की दूकान है और वह उसी की मदद के लिए गाड़ी में मीट रखकर ले जा रहा था।
पीड़ित युवक ने बताया कि रास्ते में कथित गौरक्षकों ने ऑटो रोका और उसे जमकर पीटने लगे,  आरोपियों ने ऑटो ड्राईवर को बचाने आए तीन युवकों को भी नहीं बख्शा। पीड़ित युवक का आरोप है की इस दौरान पुलिसकर्मियों के सामने भी उन्हें पीटा गया।
पीड़ित पर ही दर्ज हुआ मुकदमा
इस मामले में पुलिस की चौंकाने वाली भूमिका सामने आई है।  पुलिस पांचों पीड़ितों के खिलाफ ही गौरक्षा अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया है,  और अब पुलिस यह पता लगाने में जुटी है कि गाड़ी में गौ मांस था या नहीं। पुलिस पीड़ितों की शिकायत का इंतजार कर रही है। वहीं पीड़ित ऑटो चालक ने ऑटो में गौ मांस न होने की बात कही है। उसने कहा है कि अगर गाय का मीट निकला तो मुझे फांसी दे देना और अगर नहीं तो मुझे इन्साफ चाहिए।
मीडिया में खबर आने के बाद पुलिस ने उन लोगों के खिलाफ भी मामला दर्ज किया है जिन्होंने ऑटो चालक आजाद और उसके साथी शहजाद, अहसान और दो अन्य के साथ मार पीट की थी। पुलिस मे मीट को भी जांच के लिये भेजा है, साथ ही मार पीट में शामिल लोगों की तलाश में जुट गई है।

No comments

Need a News Portal, with all feature... Whatsapp me @ +91-9990089080
Powered by Blogger.