राजपूत-रजवाड़ों ने कभी अंग्रेजों से लड़ाई तो लड़ी नहीं, अब सड़कों पर हल्ला कर रहें हैं- जावेद अख़्तर




नई दिल्ली – संजय लीला भंसाली की फिल्म रिलीज से पहले ही विवादों में घिरी हुई है। हालांकि फिल्म इंडस्ट्री से संजय लीला भंसाली क समर्थन भी मिल रहा है. अब उन्हें मशहूर गीतकार और पूर्व राज्य सभा सांसद जावेद अख्तर का समर्थन मिला है। जावेद ने एक समाचार चैनल से बात करते हुए संजय लीला भंसाली का समर्थन किया है। बता दें कि जावेद अख्तर पहले भी कह चुके हैं कि पद्मावती उतनी ही सच है जितना मुगल ए आजम थी।
जावेद अख्तर ने फिल्म का विरोध करने वाली करणी सेना और पूर्व राजघरानों पर जमकर निशाना साधा, उन्होंने कहा कि राजपूत-रजवाड़े ने कभी अंग्रेजों से तो लड़ाई लड़ी नहीं लेकिन अब सड़कों पर उतर रहे हैं। उन्होंने कहा कि राजपूत रजवाड़े दो साल तक पगड़ी बांधकर अंग्रेजो के दरबार में खड़े रहे। उन्होंने कहा कि ये राजा ही सिर्फ इसलिये हैं क्योंकि इन्होंने अंग्रेजों की गुलामी की थी।
जब उनसे पुछा गया कि इस तरह के बयान से तो करणी सेना उनके भी पीछे पड जायेगी तो उस पर उन्होंने कहा कि करणी सेना ही क्यों मैं तो आम राजपूत की बात सुनने को तैयार हूं, जावेद अख्तर ने सवाल किया कि एक आम आदमी समाज में क्यों डरे जब कानून व्यवस्था बनाने वाली संस्थाऐं ही विरोध करने लगें तो आम आदमी क्या करेगा।
जावेद अख्तर ने कहा कि जब अंग्रेजों के राज में राजपूत रजवाड़े पगड़ी बांधकर खड़े रहते थे तब इनका राजपूत पन कहां चल गया था। उन्होंने कहा कि ये राजा ही सिर्फ इसलिये बने रहे क्योंकि इन्होंने अंग्रेजों की गुलामी को स्वीकार किया था। जब उनसे करणी सेना की धमकियों के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि हमें दो बार पुलिस प्रोटेक्शन मिला है और दोनों बार ही यह प्रोटेक्शन मुस्लिम कट्टरपंथियों द्वारा मिलने वाली धमकियों की वजह से मिला था।


No comments

Need a News Portal, with all feature... Whatsapp me @ +91-9990089080
Powered by Blogger.