मोदी सरकार ने माना ‘देशभक्त’ हैं भारत के मुसलमान, देश के मुसलमानों का IS की तरफ कोई झुकाव नहीं




भारत के मुस्लिम समाज को अरब देशों के मुकाबले काफी ज़्यादा उदार और खुले विचारों का माना जाता है। भारत में ऐसे बहुत से उदाहरण भी हैं जब मुस्लिम समाज के लोगों ने धर्म न बदलते हुए कृष्णभक्ति और गीता की शिक्षाओं को अपने जीवन का महत्वपूर्ण अंग बनाया है।
आज एक बार फिर देश के गृह मंत्रालय ने इस बात को माना है कि भारत का मुस्लिम समाज काफी उदार है। सुरक्षा एजेंसियों द्वारा हाल ही में जारी किए गए आंकड़ो के अनुसार साल 2014 से केवल 100 भारतीयों ने इराक और सीरिया जाकर कुख्यात आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट ज्वाइन किया है।
गृह मंत्रालय के अधिकारी ने कहा कि देश में मुस्लिम समुदाय की संख्या बहुत है लेकिन फिर भी इस्लामिक स्टेट में बहुत कम भारतीय शामिल हुए हैं जो कि चिंता का विषय नहीं है। इंटरनेट के जरिए युवा को बहलाने के मामले में इस्लामिक स्टेट का प्रॉपेगेंडा फेल हो रहा है।
भारत और पश्चिमी देशों से इस्लामिक स्टेट बहुत ही सीमित संख्या में लोगों की भर्ती कर पाया है, जिससे पता चलता है कि लोग उसके प्रचार से प्रभावित होकर दहशतगर्दी की तरफ अपना रुख नहीं मोड़ना चाहते।


No comments

Need a News Portal, with all feature... Whatsapp me @ +91-9990089080
Powered by Blogger.