जब तक EVM खुद आकर नहीं बोलेगी कि मैं ‘छेड़ी’ गई हूं तबतक EC जांच नही कराएगा क्या? जिग्नेश मेवानी




नई दिल्ली – इस साल संपन्न हुए यूपी विधानसभा चुनाव के बाद से ही इलैक्ट्रानिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) सवालों के घेरे में रही है। 22 नवंबर को यूपी निकाय चुनाव के पहले चरण के लिये मतदान किया गया था. इसमें, मेरठ, कानपुर, चित्रकूट समेत कई जगहों से शिकायतें आईं कि कोई भी बटन दबाने पर बत्ती कमल के फूल वाली ही जल रही है, इसमें हंगामा भी हुआ और कानपुर में तो पुलिस को लाठीचार्ज तक करना पडा।
सोशल मीडिया पर ईवीएम को लेकर सवाल उठ रहे हैं, गुजरात के दलित समुदाय के युवा नेता जिग्नेश मेवाणी ने भी सवाल उठाये हैं, जिग्नेश ने कहा है कि ‘जब तक EVM खुद आकर नहीं बोलेगी कि मैं ‘छेड़ी’ गई हूं, तब तक चुनाव आयोग जांच नहीं कराएगा क्या ? न कोई जांच न कोई सफाई, ऐसे रहा तो लोगों का भरोसा ही उठ जाएगा चुनाव आयोग पर से?’

दरअस्ल पश्चिमी उत्तर प्रदेश के मेरठ में बसपा प्रत्याशी सुनीता वर्मा ने सबसे पहले सवाल उठाया था, उन्होंने शिकायत की थी उन्होंने हाथी का बटन दबाया था लेकिन बत्ती कमल के फूल के सामन जली है। इसके बाद हंगामा हो गया, आईजी और कमिश्नर मौके पर पहुंच गये और उन्होंने किसी तरह से मामले को संभाला।
यूपी मे नगर निकाय चुनवा का यह पहला चरण था, यूपी के बाद गुजरात में भी चुनाव होने हैं, सोशल मीडिया पर लोग सवाल कर रहे हैं कि गुजरात में भी क्या ईवीएम को मैनेज किया जायेगा। लोगों का सवाल भाजपा से है। कानपुर के तिवारीपुर में भी ईवीएम में गड़बड़ी सामने आई थी जिसके बाद पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा था।


No comments

Need a News Portal, with all feature... Whatsapp me @ +91-9990089080
Powered by Blogger.