मौलवियों के साथ हुई मार पीट पर भड़के औवेसी, कहा- ‘टोपी वालों ने ही देश आजाद कराया है, चड्ढी गैंग तो अंग्रेज़ों के साथ खड़े थें




नई दिल्ली – ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुसलेमीन के फायर ब्रांड नेता असदुद्दीन औवेसी ने दक्षिणपंथी संगठनों पर निशाना साधा है। ट्रेन में हुई मौलवियों के साथ मार पीट से असद औवेसी ने नाराजगी जाहिर करते हुए दक्षिणपंथी संगठनों पर निशाना साधा है। औवेसी ने कहा है कि टोपी पहनने वालों ने देश को अंग्रेजों से आजाद कराया था जबकि चड्ढी पहनने वालों ने अंग्रेजों के लिये काम किया था।
औवेसी ने निशाना साधते हुए है कि ‘टोपी पहनने वाले बहादुर शाह जफर, अल्लामा फज़ल ए हक़ खैराबादी, मौलवी अहमद शाह, अजीमुल्लाह खान, मौलाना आजाद, जौहर बंधुओं, मौलाना हुसैन अहमद मदनी, डॉक्टर मुख्तार अहमद अंसारी ने देश को आजाद कराया चड्ढी पहनने वालों ने अंग्रेजों का साथ दिया’।

दरअस्ल चार दिन पहले पश्चिमी उत्तर प्रदेश के शामली के रहने वाले तीन मौलाना ट्रेन से दिल्ली आ रहे थे, उनके साथ बागपत के नजदीक ट्रेन में मार पीट गई और उन्हें ट्रेन से फेंक दिया गया था। पीड़ित मौलाना ने बताया था कि हमलावर उनसे कह रहे थे कि टोपी पहनता है हम सिखायेंगे तुझे टोपी पहनना।
औवेसी ने इसी को लेकर नाराजगी जताते हुए मौलवियों के साथ मार पीट करने वाले दक्षिणपंथियों पर निशाना साधा है, औवेसी ने बेहद नाराजगी जताते हुए यह टिप्पणी की है। गौरतलब है कि पश्चिमी यूपी में ट्रेन में दाढ़ी टोपी वालों के खिलाफ हिंसा के मामले लगातार सामने आ रहे हैं, पिछले सप्ताह भी एक स्कूल टीचर जिन्होंने टोपी पहन रखी थी उनके साथ भी ट्रेन में मार पीट की गई थी, इस हिंसा से बचने के लिये उन्होंने चलती ट्रेन से छलांग लगा दी थी जिसकी वजह से उनको गंभीर चोटें आईं थीं।


No comments

Need a News Portal, with all feature... Whatsapp me @ +91-9990089080
Powered by Blogger.