बिहार न्यायिक सेवा की परीक्षा पास कर जज बने अलीगढ़ मुस्लिम यूनीवर्सिटी के सात छात्र




नई दिल्ली – उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ स्थित विश्व प्रिसिद्ध अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के लिये खुश होने वाली खबर आई है, खबर के मुताबिक अलीगढ़ मुस्लिम यूनीवर्सिटी के सात छात्रों ने बिहार न्यायिक सेवा की परीक्षा उत्तीर्ण कर खुद का और विश्विद्यालय का नाम रौशन किया है।
प्राप्त जानकारी के मुताबिक बिहार जुडिशल सर्विसेज में अलीगढ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के जिन छात्रो ने सफला प्राप्त की है, उनमें से पांच छात्र अल्पसंख्यक समुदाय यानी मुस्लिम समुदाय से संबंध रखते हैं जबकि दो छात्र बहुसंख्यक समुदाय से हैं। उत्तीर्ण होने वाले छात्रों में स्वाति दुबे (पीएचडी स्टूडेंट),रेहान रजा(BA-LLB 2009) ब्रिजनाथ सिंह (पीएचडी स्टूडेंट) जीशान मेहदी (BA LLB 2015 बैच) आसिफ नवाज़ खान(BA LLB 2014 बैच), तसनीम कौसर(BA LLB 2012 बैच) और हमजा आलम(BA LLB 2009 बैच) शामिल हैं।
गौरतलब है कि इससे पहले पिछले महीने यूपीपीसीएसजे के 218 छात्रों में से 12 मुस्लिम छात्रों ने सफलता प्राप्त की थी, और वे जज बने थे। इन छात्रो में सात लड़कियां और पांच लड़के शामिल थे। यूपीपीसएसजे में मुजफ्फरनगर की जैबा रऊफ ने भी सफतला प्राप्त की थी जैबा बचपन में ही अपने पिता को खो चुकी थी, उनके पिता की बदमाशों द्वारा हत्या कर दी गई थी।
बताते चलें कि सच्चर समिती की रिपोर्ट के मुताबिक मुसलमानों का सरकारी सेवाओं में प्रतिनिधत्व तीन प्रतिशत से भी कम है जबकि मुसलमानों की आबादी 14 प्रतिशत है, इस समिती ने दस साल पहले मुसलमानों को आरक्षण देने की सिफारिश की थी लेकिन अभी तक समिती की सिफारिशों पर कोई कार्रावाई नहीं की गई है, और आयोग की रिपोर्ट ठंडे बस्ते में पड़ी धूल फांक रही है।


No comments

Need a News Portal, with all feature... Whatsapp me @ +91-9990089080
Powered by Blogger.