जमीअत उलेमा-ए-हिंद ने रोहिंग्या मुसलमानों के लिये किया अब तक का सबसे बड़ा काम- दुनिया देखती रह गई




नई दिल्ली: म्यांमार के पीड़ित लोगों के लिए जमीअत उलेमा ए हिंद ने कोतो पालिंग कोक्स बाज़ार (बांग्लादेश) में एक हजार शेल्टर होम स्थापित किए हैं, जहां बेघर रोहिंग्या मुसलमान रह रहे हैं। यह बात जमीअत की ओर से जारी किये गए एक प्रेस रिलीज़ में कही गई है।

प्रेस रिलीज़ के मुताबिक सिर्फ मोतो छोरा कैंप में जमीअत ने 160 शेल्टर होम बनाये हैं। जमीअत रिलीफ टीम के कार्यकर्ता मौलाना मकनून अहमद बिन मौलाना फरीदुद्दीन मसूद ने बताया कि खुला मैदान होने कि वजह से लोग सर्दियों में ठिठर रहे हैं। यहां लगभग आठ लाख लोग लिए हुए हैं, बहुत बुरा हाल है, इस लिए हम अधिक शेल्टर होम बनाने कि तैयारी कर रहे हैं।
गौरलतब है कि जमीअत उलेमा ए हिन्द के जनरल सेक्रेटरी मौलाना महमूद मदनी की नेतृत्व में संगठन के एक प्रतिनिधिमंडल ने 27 सितंबर को कोक्स बाज़ार का दौरा किया था, जिस के बाद जाहिरा तौर पर जमीअत ने स्थानीय संगठन इस्लाहुल मुसलमीन परिषद बांग्लादेश व अन्य के साथ मिलकर रिलीफ ओपरेशन शुरू किया है, जो अबतक जारी है।


No comments

Need a News Portal, with all feature... Whatsapp me @ +91-9990089080
Powered by Blogger.