बढता ही जा रहा है EVM विवाद: मायावती बोलीं BSP के दोनों मेयर देंगें इस्तीफा मगर भाजपा के भी सभी 14 मेयर को देना होगा इस्तीफ़ा




लखनऊ – उत्तर प्रदेश निकाय चुनाव के परिणाम को लेकर बसपा सुप्रिमो मायावती ने कहा है कि भाजपा की जीत में अगर EVM की भूमिका नहीं है तो बसपा की जीती हुई अलीगढ़ और मेरठ सहित सभी 16 मेयर की सीटों पर बैलेट पेपर से वोटिंग करायी जाए. इससे भाजपा को अपनी पार्टी की असलियत के साथ-साथ प्रधानमंत्री मोदी के कथित विजन का भी पता चल जाएगा.
मायावती ने यह टिप्पणी यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ के उस बयान पर की है जिसमें योगी ने कहा था कि अगर ईवीएम से चुनाव में भरोसा नहीं है तो बसपा के मेयर इस्तीफा दें, वहां पर बैलेट पेपर से दोबारा चुनाव कराया जाएगा’, बसपा सुप्रिमो ने इस पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि यह चोरी और ऊपर से सीनाजोरी की बदतर मिसाल है.
मायावती ने कहा कि, ‘सच्चाई यह है कि 2014 के लोकसभा और 2017 के उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में भाजपा ने EVM के माध्यम से चुनावी धांधली करके जीत हासिल की और केंद्र और उत्तर प्रदेश में बहुमत की सरकार बना ली. उन्होंने कहा कि इन दोनों चुनाव में भाजपा को वैसा जनसमर्थन बिल्कुल नहीं मिला था, जैसाकि चुनाव परिणाम दर्शाते हैं.’
ईवीएम में धांधली करके जीता चुनाव
यूपी की चार बार सीएम रहीं मायावती ने कहा,  कि राज्य में इस बार मेयर का चुनाव भी EVM से कराया गया, उन्होंने भाजपा पर आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा ने धांधली करके 16 में से 14 सीट जीत ली गई. उन्होंने कहा कि अलीगढ़ और मेरठ में बीएसपी जीती, क्योंकि यहां पर जनता में जर्बदस्त जनउबाल था और ज्यादा गड़बड़ी करने पर चोरी साफ तौर पर पकड़े जाने की भी आशंका थी, जिससे भाजपा की और भी अधइक फजीहत हो सकती थी.’
बसपा सुप्रिमो ने कहा, ‘नगरपालिका और नगर पंचायत के चुनाव में ईवीएम के बजाय बैलेट पेपर से चुनाव हुआ था, वहां पर आखिर भाजपा क्यों पिछड़ गई? उन्होंने कहा कि इससे पता चलता है कि मेयर के चुनाव में ईवीएम के माध्यम से धांधली के कारण भाजपा  चुनाव जीती, न कि लोगों के समर्थन के कारण. उन्होंने कहा कि सरकारी मशीनरी का जबर्दस्त दुरुपयोग कर बसपा के प्रत्याशी को विशेषकर सहारनपुर, आगरा और झांसी में हराया गया है.’


No comments

Need a News Portal, with all feature... Whatsapp me @ +91-9990089080
Powered by Blogger.